नमस्कार 🙏 हमारे न्यूज पोर्टल - मे आपका स्वागत हैं ,यहाँ आपको हमेशा ताजा खबरों से रूबरू कराया जाएगा , खबर ओर विज्ञापन के लिए संपर्क करे +91 8894723376 ,हमारे यूट्यूब चैनल को सबस्क्राइब करें, साथ मे हमारे फेसबुक को लाइक जरूर करें , लाइव ऑल हिमाचल न्यूज
😊 कृपया इस न्यूज को शेयर करें😊

चिकित्सक को भगवान् का दर्जा दिया जाता है, क्योंकि  रोगियों की जिंदगी की डोर चिकित्सक के साथ होती है और रोगियों को भरोसा होता है की वह उसे रोग मुक्त कर देगा

जव बाड खेती को खाने लगे तो रक्षक भगवान् ही हो सकता है, जब अपने फर्ज पर धन के लोभ का चश्मा चढ़ जाऐ तो रोगियों की जान पर आ बनती है। 

आखिर यह धन जो इंसानियत को दरकिनार करके कमाया जा रहा है खाने बाला कौन ⇒परिवार यह पाप की कमाई परिवार पर क्या प्रभाव डालेगी। 

प्रभावित परिवारों ने यह मामला प्रैस के ध्यान में लाया और जब इसकी गहनता से तवसीस की तो यह मामला बड़ा गंभीर और इंसानियत को चूर चूर करने बाला निकला यह मामला,अपनी मर्यादा को भूलकर चिकित्सक महमूदाबाद के सीएचसी हास्पिटल में रोगियों की कर रहा है रोगियों के साथ विश्वासघात

अब समाचार विस्तार से

सरकारी स्वास्थ विभाग पे भारी है प्राइवेट पैथालॉजी*

*कमीशन के चलते महंगी दवाओं को लिखकर गरीबों की जेब में डाका डालते हैं डॉक्टर

*नियुक्ति कहीं और ड्यूटी कहीं

*सीएचसी के आस पास क्यों मंडराते हैं प्राइवेट पैथालॉजी संचालक?

* गंभीर खुलासा*

महमूदाबाद, जिला व्यूरो चीफ़ अनुज कुमार जैन 

⇒                   जरा सोंचिए कि जब सीएचसी महमूदाबाद के इमरजेंसी वार्ड में मरीज आएं और नियुक्त चिकित्सक की जगह अन्य चिकित्सक उसे देखे और पर्चे में महंगी दवा लिखने के साथ साथ प्राइवेट पैथालॉजी के लोगों को बुलवाकर सैंपल भी करवाने लगे तो नजारा क्या होगा?

⇒         हम बात कर रहे हैं खुरवल में चिकित्सक के पद पर तैनात डॉक्टर की जो बिना नियुक्ति के ही सीएचसी महमूदाबाद में मरीजों को देखते हैं और हमेशा सीएचसी में स्थायित्व बनाए हुए हैं। ऐसे में जब भी कोई मरीज परामर्श हेतु आता है तो डॉक्टर उनके पर्चे में महंगी दवा लिख बाहर के मेडिकल से खरीदने पर जोर देते हैं।

⇒             नीजि लैब वाले सीएचसी के इमरजेंसी वार्ड के अंदर ही मरीजों का सैंपल ले लेते हैं। सभी तथ्यों पर नजर दौरान जाऐ तो मोटे कमीशन के चलते यह खेल बड़े स्तर पर चल रहा है। अब गेंद प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग के पाले में……. 

तमीरदर ने भी पुष्टि की  बताते हुए

*क्या बोले सीएचसी अधीक्षक*डॉक्ट की इस सीएचसी में नियुक्त नही

मामले को लेकर सीएचसी अधीक्षक आशीष कुमार सिंह ने बताया की यह बात उनके संज्ञान में आई है। डॉक्टर की इस सीएचसी में नियुक्त नही हैं उनकी नियुक्ति पीएचसी खुरवल में है। परिसर में उच्च अधिकारियों द्वारा सभी जरूरी दवाएं पहले से सीएचसी को मिली हुई हैं। किसी भी प्राइवेट पैथालॉजी द्वारा सीएचसी के भीतर जांच हेतु सैंपल लेना गैर कानूनी है।मामले की जांच कर विधिवत कार्यवाही की जाएगी।

Whatsapp बटन दबा कर इस न्यूज को शेयर जरूर करें 

Advertising Space


[responsivevoice_button voice="Hindi Male"]