नमस्कार 🙏 हमारे न्यूज पोर्टल - मे आपका स्वागत हैं ,यहाँ आपको हमेशा ताजा खबरों से रूबरू कराया जाएगा , खबर ओर विज्ञापन के लिए संपर्क करे +91 8894723376 ,हमारे यूट्यूब चैनल को सबस्क्राइब करें, साथ मे हमारे फेसबुक को लाइक जरूर करें , गांजर के चाहलारी का इतिहास और मंदिर का मनमोहक नजारा – लाइव ऑल हिमाचल न्यूज

गांजर के चाहलारी का इतिहास और मंदिर का मनमोहक नजारा

😊 कृपया इस न्यूज को शेयर करें😊

रिपोर्ट-अनुज कुमार जैन

सीतापुर की ब्लाक रेउसा से लगभग सात किलो मीटर पर चहलारी घाट पुल है , इस पुल को उत्तर प्रदेश के समाजवादी पार्टी के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के शासनकाल में पूर्ण हुआ।

 यह पुल बहराइच नेपाल बॉर्डर और सीतापुर लखनऊ को जोड़ता है ग्राम चहलारी कई साे साल पहले 33 गांवों की रियासत हुआ करती थी जिसके राजा बलभद्र सिंह हुआ करते थे राजा बलभद्र सिंह ने अंग्रेजों से कई जंगे लड़ी और वीरगति प्राप्त हुए चहलारी पुल का आधा हिस्सा सीतापुर में तो आधा हिस्सा जिला बहराइच में पड़ता है इस पुल की लंबाई लगभग साढ़े तीन किलोमीटर की है यह पुल घाघरा नदी पर बना हुआ है इस नदी के एक छोर पर पंचेश्वर हनुमान मंदिर बना है जो यहां के नजारे को चार चांद लगा देता है इस मंदिर के महंत बाबा त्यागी जी महाराज हैं इस मंदिर में राजा बलभद्र सिंह संत सेवा संस्थान भी है

 

सावन के महीने में यहां मेला भी लगता है और दूर-दराज से श्रद्धालु यहां आकर मंदिर में पूजा अर्चना भी करते हैं और घाघरा नदी से जल लेकर महादेवा मंदिर शिव जी को भी चढ़ाते हैं जब कुछ श्रद्धालुओं से बात की तो उन्होंने बताया कि हम त्यागी जी महाराज से मिलने आए थे यहां पर हमने पूजा अर्चना की अब हम बाराबंकी में महादेव मंदिर जल लेकर जा रहे हैं वहां भी भगवान शिवजी को जल चढ़ाएंगे ,,,,,,,,

Whatsapp बटन दबा कर इस न्यूज को शेयर जरूर करें 

Advertising Space


[responsivevoice_button voice="Hindi Male"]