नमस्कार 🙏 हमारे न्यूज पोर्टल - मे आपका स्वागत हैं ,यहाँ आपको हमेशा ताजा खबरों से रूबरू कराया जाएगा , खबर ओर विज्ञापन के लिए संपर्क करे +91 8894723376 ,हमारे यूट्यूब चैनल को सबस्क्राइब करें, साथ मे हमारे फेसबुक को लाइक जरूर करें , पौंग डैम से पानी छोड़े जाने के कारण मंड क्षेत्र में बाढ़ जैसे हालात पैदा हो गए हैं। ब्यास मैनेजमेंट बोर्ड द्वारा भारी बारिश के चलते व्यास नदी में पानी छोड़े जाने को लेकर निर्णय किया गया है जिसके कारण स्थाना से लेकर मंड रे, रियाली, भोगरवां, घंडरां पराल तथा इसके आसपास के क्षेत्रों में इस समय पानी का स्तर विकराल रूप ले चुका है – लाइव ऑल हिमाचल न्यूज

पौंग डैम से पानी छोड़े जाने के कारण मंड क्षेत्र में बाढ़ जैसे हालात पैदा हो गए हैं। ब्यास मैनेजमेंट बोर्ड द्वारा भारी बारिश के चलते व्यास नदी में पानी छोड़े जाने को लेकर निर्णय किया गया है जिसके कारण स्थाना से लेकर मंड रे, रियाली, भोगरवां, घंडरां पराल तथा इसके आसपास के क्षेत्रों में इस समय पानी का स्तर विकराल रूप ले चुका है

😊 कृपया इस न्यूज को शेयर करें😊

 लाईव आल हिमाचल न्यूज़ जिला संवाददाता विजय समयाल

स्थाना से लेकर मंड रे, रियाली, भोगरवां, घंडरां पराल तथा इसके आसपास के क्षेत्रों में इस समय पानी का स्तर विकराल रूप ले चुका है

पोंग डैम से पानी छोड़े जाने के कारण मंड क्षेत्र में बाढ़ जैसे हालात पैदा हो गए हैं। ब्यास मैनेजमेंट बोर्ड द्वारा भारी बारिश के चलते व्यास नदी में पानी छोड़े जाने को लेकर निर्णय किया गया है जिसके कारण स्थाना से लेकर मंड रे, रियाली, भोगरवां, घंडरां पराल तथा इसके आसपास के क्षेत्रों में इस समय पानी का स्तर विकराल रूप ले चुका है जिससे लोगों के घरों वह विजय हुए धान की फसल में कई जगहों पर पानी खड़ा है।

1 दिन पहले ही मंड भादपुर से कुछ गुज्जर समुदाय के लोगों को एनडीआरएफ की टीम ने निकाला था जबकि आज मंड भादपुर में ही एक अन्य व्यक्ति सुभाष चंद व उसके परिवार के 4 सदस्य के इलावा 8 बकरी तथा भेड़ों को रेस्क्यू कर सुरक्षित जगह पर लाया गया।

काबिले गौर है कि इन परिवारों तक या तो पानी छोड़े जाने की सूचना अब तक नहीं पहुंची थी या फिर कहीं ना कहीं उनके मन में यह संशय था कि पानी उनके घरों तक नहीं पहुंचेगा यही वजह है कि कुछ परिवार अब भी ऐसी जगहों पर डटे हुए हैं जहां पर पानी पहुंचने के आसार बने हुए हैं।

एनडीआरएफ की टीम में पहुंचे बचाव कर्मियों ने उप मंडल अधिकारी इंदौरा सुरेंद्र ठाकुर की अगुवाई में चारों ओर से पानी से घिरे इन लोगों को नाव की सहायता से बाढ़ ग्रस्त एरिए से सुरक्षित निकाल लिया गया।

इसके अलावा बीती रात मंड भोगरवां में जर्जर हालत में पहुंच चुके पुल को पानी अपने बहाव में वहाकर बहा ले गया।इसके अलावा वहां पर कार्य कर रहीकंपनी का काफी सामान भी बाढ़ की चपेट में आ गया व करण पठानिया के 50 सीमेंट के बैग के साथ 40 प्लेट व अन्य सामान बाढ़ की भेंट चढ़ गया।

 

Whatsapp बटन दबा कर इस न्यूज को शेयर जरूर करें 

Advertising Space


[responsivevoice_button voice="Hindi Male"]