नमस्कार 🙏 हमारे न्यूज पोर्टल - मे आपका स्वागत हैं ,यहाँ आपको हमेशा ताजा खबरों से रूबरू कराया जाएगा , खबर ओर विज्ञापन के लिए संपर्क करे +91 8894723376 ,हमारे यूट्यूब चैनल को सबस्क्राइब करें, साथ मे हमारे फेसबुक को लाइक जरूर करें , भारतीय वायुसेना को मिलेगी नई मिसाइल, दुश्मन का पीछा करके देती है मौतबस टारगेट की तरफ दाग दो, भारत की ये मिसाइल मारने तक नहीं छोड़ेगी पीछा – लाइव ऑल हिमाचल न्यूज

भारतीय वायुसेना को मिलेगी नई मिसाइल, दुश्मन का पीछा करके देती है मौतबस टारगेट की तरफ दाग दो, भारत की ये मिसाइल मारने तक नहीं छोड़ेगी पीछा

😊 कृपया इस न्यूज को शेयर करें😊

 

भारतीय वायुसेना को मिलेगी नई मिसाइल, दुश्मन का पीछा करके देती है मौत

फोटो विकीपीडिया से

सेना इसका उपयोग दुश्मनों के टैंक्स आदि उड़ाने के लिए कर सकती है. सिर्फ टैंक ही नहीं, ये कम ऊंचाई पर उड़ रहे हेलिकॉप्टर और विमानों को भी मार गिरा सकती है. Spike ATGMs के कुल मिलाकर 9 वैरिएंट्स हैं. अगर इन्हें हेलिकॉप्टर में तैनात करते हैं तो कैनिस्टर में रखी मिसाइल का वजन होता है 34 KG. लॉन्चर का 55 KG और लॉन्चर के साथ चार मिसाइलों का वजन होता है 187 K.आमतौर पर Spike ATGMs की लंबाई 3 फीट 11 इंच होती है. वैरिएंट्स के अनुसार थोड़ा-बहुत कम ज्यादा हो सकती है. अलग-अलग वैरिएंट की रेंज अलग है. 50 मीटर से 10 हजार मीटर तक इसकी रेंज है. हेलिकॉप्टर में 600 से 25 हजार मीटर रेंज वाली Spike-NLOS मिसाइल लगेगी. Spike ATGMs में टैंडेम चार्ज HEAT वॉरहेड लगाया जाता है. जिसके पीछे एक सॉलिड प्रॉपेलेंट रॉकेट उसे टारगेट तक पहुंचाता है. इसमें इंफ्रारेड होमिंग- इलेक्ट्रो ऑप्टिकल सीकर लगा होता है, जो दुश्मन को किसी भी मौसम और अंधेरे में भी खोज सकता है. यानी यह टारगेट से निकल रही गर्मी को पकड़कर उसका पीछा करता है.

( आत) 

Whatsapp बटन दबा कर इस न्यूज को शेयर जरूर करें 

Advertising Space


[responsivevoice_button voice="Hindi Male"]