नमस्कार 🙏 हमारे न्यूज पोर्टल - मे आपका स्वागत हैं ,यहाँ आपको हमेशा ताजा खबरों से रूबरू कराया जाएगा , खबर ओर विज्ञापन के लिए संपर्क करे +91 8894723376 ,हमारे यूट्यूब चैनल को सबस्क्राइब करें, साथ मे हमारे फेसबुक को लाइक जरूर करें , शिमला के टुटीकंडी आईएसबीटी में फीडिंग रूम की सुविधा शुरू कर दी गई है। महिलाएं बच्चों को बेहिचक स्तनपान करवा सकें, इसके लिए प्रदेश के सभी पुराने और नए बन रहे बस अड्डों में फीडिंग रूम बनेंगे।  – लाइव ऑल हिमाचल न्यूज

शिमला के टुटीकंडी आईएसबीटी में फीडिंग रूम की सुविधा शुरू कर दी गई है। महिलाएं बच्चों को बेहिचक स्तनपान करवा सकें, इसके लिए प्रदेश के सभी पुराने और नए बन रहे बस अड्डों में फीडिंग रूम बनेंगे। 

😊 कृपया इस न्यूज को शेयर करें😊

शिमला के टुटीकंडी आईएसबीटी में फीडिंग रूम की सुविधा शुरू कर दी गई है। महिलाएं बच्चों को बेहिचक स्तनपान करवा सकें, इसके लिए प्रदेश के सभी पुराने और नए बन रहे बस अड्डों में फीडिंग रूम बनेंगे। 

शिमला: श्रमाचल पथ परिवहन निगम (एचआरटीसी) ने बसों में सफर करने वाली महिलाओं के लिए सराहनीय पहल की है। प्रदेश में निगम के सभी बस अड्डों पर महिलाओं को बेबी फीडिंग रूम मुहैया रहेगा। शिमला के टुटीकंडी आईएसबीटी में फीडिंग रूम की सुविधा शुरू कर दी गई है। महिलाएं बच्चों को बेहिचक स्तनपान करवा सकें, इसके लिए प्रदेश के सभी पुराने और नए बन रहे बस अड्डों में फीडिंग रूम बनेंगे। मौजूदा समय में देश के चुनिंदा राज्यों में ही इस तरह की सुविधा उपलब्ध है। सफर के दौरान महिलाओं को सार्वजनिक जगहों पर बच्चों को स्तनपान करवाने में असुविधा होती है।

कई बार महिलाओं को छोटे बच्चों के साथ बस अड्डे पर बसों का लंबा इंतजार करना पड़ता है। ऐसी स्थिति में भी महिलाओं को बच्चों को दूध पिलाने के लिए जगह की सुविधा मिलेगी। एचआरटीसी के फीडिंग रूम महिला प्रतीक्षा कक्ष के तौर पर भी इस्तेमाल होंगे। जहां पीने के पानी और शौचालय की सुविधा भी होगी। क्षेत्रीय प्रबंधक शिमला (लोकल) विनोद कुमार शर्मा ने बताया कि टुटीकंडी आईएसबीटी के डिपार्चर फ्लोर पर फीडिंग रूम की सुविधा शुरू कर दी गई है, जल्द ही पुराने बस अड्डे में भी सुविधा मिलनी शुरू हो जाएगी।

बसों में सफर करने वाली महिलाओं की सुविधा के लिए सभी बस अड्डों पर बेबी फीडिंग रूम उपलब्ध होंगे। नए बन रहे बस अड्डों में इसके लिए अलग से प्रावधान किया जा रहा है। पुराने बस अड्डों में भी उपयुक्त जगह का चयन कर सुविधा दी जाएगी। सर्वोच्च न्यायालय के भी महिलाओं को सार्वजनिक स्थलों पर ऐसी सुविधा देने के आदेश हैं।- रोहन चंद ठाकुर, प्रबंध निदेशक, एचआरटीसी

 

 

Whatsapp बटन दबा कर इस न्यूज को शेयर जरूर करें 

Advertising Space


[responsivevoice_button voice="Hindi Male"]