नमस्कार 🙏 हमारे न्यूज पोर्टल - मे आपका स्वागत हैं ,यहाँ आपको हमेशा ताजा खबरों से रूबरू कराया जाएगा , खबर ओर विज्ञापन के लिए संपर्क करे +91 8894723376 ,हमारे यूट्यूब चैनल को सबस्क्राइब करें, साथ मे हमारे फेसबुक को लाइक जरूर करें , *मक्की-धान की खेती में कांगड़ा नंबर वन, कृषि विभाग के आंकड़ों से खुलासा, हमीरपुर में धान की पैदावार सबसे कम* – लाइव ऑल हिमाचल न्यूज

*मक्की-धान की खेती में कांगड़ा नंबर वन, कृषि विभाग के आंकड़ों से खुलासा, हमीरपुर में धान की पैदावार सबसे कम*

😊 कृपया इस न्यूज को शेयर करें😊

*मक्की-धान की खेती में कांगड़ा नंबर वन, कृषि विभाग के आंकड़ों से खुलासा, हमीरपुर में धान की पैदावार सबसे कम*

जिला व्यूरो चीफ़ विजय समयाल

हिमाचल के नॉर्थ जोन में खरीफ की फसलों में वर्ष 2022-23 आंकड़ों के अनुसार कांगड़ा में मक्की और धान की सबसे ज्यादा पैदावार हुई है, जबकि सबसे कम हमीरपुर और चंबा में हुई है। कांगड़ा में धान की कुल 53190 हेक्टेयर भूमि पर 116560 मीट्रिक टन उत्पादन हुआ है। वहीं, मक्की का कुल 55000 हेक्टेयर भूमि पर 138460 मीट्रिक टन खेती की गई। सबसे कम हमीरपुर में धान की 600 हेक्टेयर भूमि पर 790 मीट्रिक टन खेती और चंबा में मक्की की 3950 हेक्टेयर भूमि पर 62930 मीट्रिक टन सबसे कम खेती की गई। नॉर्थ जोन में इस बार 267660 हेक्टेयर की भूमि पर कुल 621380 मीट्रिक टन का उत्पादन हुआ है। पिछले साल नोर्थ जोन में 274390 हेक्टेयर की भूमि पर 669980 मीट्रिक टन का उत्पादन किया था। प्रदेश के नॉर्थ जोन में कांगड़ा, चंबा, मंडी, हमीरपुर और ऊना शामिल है।

उत्तरी क्षेत्र में कुल 621380 मीट्रिक टन खाद्यान्न का उत्पादन किया है, जिसमें धान, मक्की, दालें और मोटे अनाज की फसलें शामिल है। ये फसलें प्रदेश के उत्तरी क्षेत्र के 267660 हेक्टेयर में उगाई गई है, जिसमें धान की खेती 76530 हेक्टेयर के क्षेत्र में एक लाख 55810 मीट्रिक टन का उत्पादन किया है। मक्की में 180950 हेक्टेयर में 455530 एमटी उत्पाद किया है। प्रदेश नॉर्थ जोन कृषि विभाग के सयुंक्त निदेशक डा. पवन कुमार ने बताया कि नोर्थ जोन में इस बार खरीफ की फसलों का उत्पादन 621380 एमटी हुआ है। नॉर्थ जोन को वर्षा के चलते एक करोड़ 37 लाख 12870 का नुकसान हुआ था।

किस जिला में कितनी धान और मक्की की पैदावार

प्रदेश के नॉर्थ जोन में धान की खेती 155810 मीट्रिक टन खेती 76530 हेक्टेयर भूमि पर की गई है। इसमें चंबा में 2320 हेक्टेयर पर 3950 एमटी प्रोडक्शन, हमीरपुर में में 600 हेक्टेयर भूमि पर 790 एमटी, कांगड़ा में 53190 हेक्टेर।

Whatsapp बटन दबा कर इस न्यूज को शेयर जरूर करें 

Advertising Space


[responsivevoice_button voice="Hindi Male"]