नमस्कार 🙏 हमारे न्यूज पोर्टल - मे आपका स्वागत हैं ,यहाँ आपको हमेशा ताजा खबरों से रूबरू कराया जाएगा , खबर ओर विज्ञापन के लिए संपर्क करे +91 8894723376 ,हमारे यूट्यूब चैनल को सबस्क्राइब करें, साथ मे हमारे फेसबुक को लाइक जरूर करें , तपोवन में विधानसभा के शीतकालीन सत्र के पांचवें दिन शनिवार को भाजपा विधायक दल ने नेता प्रतिपक्ष जयराम ठाकुर के नेतृत्व में विधानसभा परिसर में सेब की पेटियों के साथ प्रदर्शन किया – लाइव ऑल हिमाचल न्यूज

तपोवन में विधानसभा के शीतकालीन सत्र के पांचवें दिन शनिवार को भाजपा विधायक दल ने नेता प्रतिपक्ष जयराम ठाकुर के नेतृत्व में विधानसभा परिसर में सेब की पेटियों के साथ प्रदर्शन किया

Featured Video Play Icon
😊 कृपया इस न्यूज को शेयर करें😊

तपोवन में हिमाचल प्रदेश विधानसभा के शीतकालीन सत्र के पांचवें दिन शनिवार को भाजपा विधायक दल ने नेता प्रतिपक्ष जयराम ठाकुर के नेतृत्व में विधानसभा परिसर में सेब की पेटियों के साथ प्रदर्शन किया

लाइव आल हिमाचल न्यूज़, 23 दिसम्बर, जिला व्यूरो चीफ़ विजय समयाल

नेता प्रतिपक्ष ने कहा कि कांग्रेस ने गारंटी दी थी कि सत्ता के आने के बाद किसान-बागवान सेब के दाम खुद तय करेंगे।

लेकिन सरकार बन जाने के बाद जब किसान-बागवानी मंत्री से मिले तो मंत्री ने कह दिया कि देश में ऐसी व्यवस्था कहीं नहीं हैं। जयराम ठाकुर ने कहा कि इन झूठी गारंटियां हम कांग्रेस को भूलने नहीं देंगे। जो कहा है, वह करना पड़ेगा। हिमाचल के लोगों को कांग्रेस द्वारा ठगने नहीं देंगे।

   सदन में कंधे पर परने लटकाकर पहुंचे भाजपा विधायक

वहीं, तपोवन में हिमाचल प्रदेश विधानसभा के शीतकालीन सत्र के अंतिम और पांचवें दिन शनिवार की कार्यवाही भी अलग तरह से शुरू हुई। 11:00 बजे कार्रवाही शुरू हुई तो सदन में नेता प्रतिपक्ष जयराम ठाकुर सहित कई भाजपा विधायक कंधे पर परने लटकाए हुए पहुंचे। भाजपा विधायकों ने लगातार पांचवें दिन सदन की बैठक शुरू होने से पहले विधानसभा परिसर में कांग्रेस की गारंटियों पर अपना जोरदार प्रदर्शन जारी रखा।उन्होंने राज्य विधानसभा के गेट के बाहर भाजपा विधायक बोलियां और नारे लगाते रहे। इसके लिए सांकेतिक कार्टन यानी पेटियां लाकर और उनमें सेब भरकर भाजपा विधायक परिसर में पहुंचे। फिर यहां सेब की बोलियां लगाने लगे। भाजपा विधायकों ने आरोप लगाया कि कांग्रेस ने सत्ता में आने से पहले बागवानों को गारंटी दी थी कि सेब के दाम वे खुद तय करेंगे, लेकिन यह गारंटी लागू नहीं हुई है। बागवानों को सेब नालों में बहाने की नौबत आ गई। हालांकि, सुबह प्रश्नकाल बगैर गतिरोध के चला।

Whatsapp बटन दबा कर इस न्यूज को शेयर जरूर करें 

Advertising Space


[responsivevoice_button voice="Hindi Male"]